Jakarta 70 schools to be closed during Asian Games to cope with traffic congestion


Jakarta 70 schools to be closed during Asian Games to cope with traffic congestion

एशियाई खेलों के दौरान बंद रहेंगे जकार्ता के 70 स्कूल, ट्रैफिक की समस्या से निपटने के लिए सरकार ने लिया फैसला

  • सरकारी और निजी दोनों तरह के स्कूलों को बंद किया गया
  • अभी छुट्टी होने से दिसंबर में छात्रों को स्कूल जाना पड़ेगा

 

 

 

जकार्ता.  इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबैंग में 18 अगस्त से 18वें एशियाई खेल होने हैं। इसे लेकर यहां तैयारियां जोरों पर हैं। हालांकि इन खेलों के दौरान जकार्ता के करीब 31,000 छात्र अपने स्कूल नहीं जा पाएंगे। उन्हें घर पर बैठकर ही अपना कोर्स पूरा करना होगा। एशियाई खेलों के दौरान ट्रैफिक की समस्या से निपटने के लिए इंडोनेशिया की सरकार ने जकार्ता के 70 स्कूलों को 18 अगस्त से 2 सितंबर तक बंद रखने का फैसला किया है। इनमें प्री से लेकर हाई स्कूल स्टैंडर्ड तक के विद्यालय शामिल हैं। 

 

छात्रों का नुकसान न होने देने का दावाः जकार्ता एजुकेशन एजेंसी (जेईए) के कार्यकारी प्रमुख बोवो रियानाटो का दावा है कि स्कूल बंद रहने के बावजूद छात्रों की पढ़ाई का नुकसान नहीं होगा, क्योंकि टीचर उन्हें सामान्य दिनों की तरह टॉस्क (काम) देते रहेंगे। जेईए के प्रमुख सोपन एड्रियानटो ने कहा, “जकार्ता एजुकेशन एजेंसी एशियाई खेलों के समर्थन के लिए तैयार है। इसलिए हमने फैसला किया है कि हम जकार्ता में सिर्फ कुछ स्कूल नहीं बल्कि सभी को बंद रखेंगे।” जकार्ता के गर्वनर एनी बसवेडन ने पहले सिर्फ एशियाई खेलों की स्पर्धाओं के लिए तय स्थानों के आसपास के स्कूलों को ही बंद करने का फैसला किया था। 

 

30 से 40 फीसदी तक ट्रैफिक कम होने की उम्मीदः माना जा रहा है कि एशियाई खेलों के दौरान स्कूल बंद होने से एथलीट्स को अलग-अलग जगहों (स्पोर्ट्स वेन्यू) तक पहुंचने में कम समय लगेगा। जकार्ता के डिप्टी गर्वनर ने सैंडिआगा ने बताया, “हम उम्मीद कर रहे हैं कि इससे 30 से 40 फीसदी तक ट्रैफिक कम हो जाएगा।” जकार्ता ट्रैफिक की समस्या के लिए कुख्यात है। 2016 में सेटेलाइट नेविगेशन डाटा के आधार पर इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता खराब ट्रैफिक सूचकांक में टॉप पर थी। इसमें पाया गया था कि जकार्ता का लगभग हर ड्राइवर साल भर में औसतन 33,000 बार गाड़ी स्टॉर्ट और बंद करता है। एक अनुमान के अनुसार, शहर में 70 फीसदी वायु प्रदूषण का कारण वहां के वाहन हैं। करीब 40 किलोमीटर दूर बोगोर से जकार्ता पहुंचने में आमतौर पर 2 घंटे का समय लगता है। जकार्ता में काम करने वाले बहुत से लोग बोगोर में रहते हैं। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *