Chinese officials delayed plan to demolish a mosque after muslims protest


Chinese officials delayed plan to demolish a mosque after muslims protest

चीन: मुस्लिमों के प्रदर्शन के चलते सरकार को स्थगित करनी पड़ी मस्जिद तोड़ने की योजना

बीजिंग.    चीन के अधिकारियों ने हाल में बनी एक मस्जिद को तोड़ने की योजना स्थगित कर दी है। इसकी वजह हुई मुस्लिमों के बड़े पैमाने पर प्रदर्शन को वजह बताया जा रहा है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लामीकरण रोकने के सरकार के प्रयासों के खिलाफ ये सबसे बड़ा प्रदर्शन माना जा रहा है। शिनजियांग में उइगर के बाद हुई मुस्लिम समुदाय का दूसरा सबसे बड़ा समूह है।

मामला टोंगजिन काउंटी स्थित वीझोऊ इलाके की ग्रेंड मस्जिद का है। साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक, स्थानीय अफसर इसे तोड़ने के लिए शुक्रवार को पहुंचे। लेकिन मस्जिद के पास बड़ी संख्या में लोग गुरुवार रात से जुट गए थे। रात में ही इलाके के प्रमुख भी मस्जिद पहुंचे और उन्होंने प्रदर्शनकारियों को भरोसा दिलाया कि सरकारी अफसर इमारत को तब तक छू भी नहीं सकेंगे, जब तक कि उन्हें इसकी इजाजत नहीं मिल जाती।

मस्जिद तोड़ने का नोटिफिकेशन दिया था : 3 अगस्त को वीझोऊ सरकार ने मस्जिद मैनेजमेंट कमेटी को बाकायदा एक नोटिफिकेशन दिया था जिसमें 10 अगस्त तक मस्जिद तोड़ने की डेडलाइन बताई गई थी। ये भी कहा गया था कि कमेटी अगर मस्जिद नहीं तोड़ती तो सरकार को नियमानुसार उसे जबरन तोड़ने का हक होगा। 

सरकार में डर : रिपोर्ट के मुताबिक, निंगशिया ऑटोनॉमस रीजन में ये सरकार और प्रदर्शनकारियों के बीच अब तक की सबसे बड़ी झड़प कही जा रही है। उधर, कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार को देश में तेजी से हो रहे इस्लामीकरण को लेकर डर है। लिहाजा इसे दबाने के प्रयास किए जा रहे हैं। चीन में मुस्लिम समेत गैर-चीनी धर्मों को नियंत्रण में रखने के लिए राष्ट्रपति शी जिनपिंग 2015 में सिनिसाइज रिलीजन की नीति लाए थे। इसके तहत सभी धार्मिक समूहों को चीन की संस्कृति को मानना होगा। साथ ही उन पर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना का नियंत्रण होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *