Breaking News

amitabh bachchan first time talk about women safety in interview


Dainik Bhaskar

Oct 11, 2018, 03:12 PM IST

बॉलीवुड डेस्क. सदी के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन आज 76 साल के हो गए। उनका जन्म 11 अक्टूबर 1942 को हुआ था। यूं तो बिग बी हमेशा सोशल मीडिया के माध्यम से अपने फैन्स से जुड़े रहते हैं, लेकिन अपने बर्थडे के मौके पर उन्होंने अपने फैन्स के लिए एक खास इंटरव्यू शेयर किया है। इस इंटरव्यू की खास बात ये है कि इसमें सवाल पूछने वाले भी अमिताभ बच्चन हैं और जवाब देने वाले भी अमिताभ बच्चन ही हैं।

 

ट्विटर पर शेयर किया इंटरव्यू : अमिताभ बच्चन ने अपना ये खास इंटरव्यू अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है। उन्होंने अपने 2,959वें ट्वीट में इसे शेयर किया है।

 

 

आइए देखते हैं पूरा इंटरव्यू


  1. आज फिर से स्पेशल दिन है, खासकर हमारे लिए। लेकिन बर्थडे आपको इतना परेशान क्यों करता है?

    जवाब : इसपर बेवजह जोर दिया जा रहा है। ये ऐसा दिन है जो हर इंसान की लाइफ में आता है।


  2. आपके लिए एक आदर्श बर्थडे क्या होगा? शायद इस भीड़ से खुदको अलग रखना?

    जवाब : हां, यही मेरे लिए आदर्श बर्थडे होगा, लेकिन मैं अपने परिवार को अपने साथ रखना चाहता हूं। खासतौर पर मेरे नाती-पोते।


  3. अमित जी, आप सालों से दूसरों के लिए जीते आ रहे हैं। क्या आपको कभी महसूस हुआ कि अब बहुत हो गया। अब मुझे खुद के लिए जीना है?

    जवाब : न जाने क्यूं ऐसा लग रहा है आपको? जो संतुष्टि , एक ऐसा जीवन जीने में, जो दूसरों को समर्पित है, वो कहीं और नहीं मिल सकती है। ‘बहुत होना’ मेरे लिए, एक कलाकार की दृष्टि में, बहुत ही कमज़ोर अवस्था होगी। जिस दिन एक कलाकार ये महसूस करता है कि ये मेरे लिए पर्याप्त नहीं है, मेरे लिए ये मेरी क्रिएटिव एबिलिटीज की हार होगी। मेरा मानना है कि हम अपने जीवन के हर दिन सीखते हैं, जिसका मतलब होगा जीवित रहना। मैं हर दिन कुछ नया सीखना चाहता हूं और मुझे पता है कि ये मेरे लिए कभी पर्याप्त नहीं होगा।


  4. एक एक्टर, कलाकार, संगीतकार और भारतीय के रुपए में आपके कौनसे सपने अभी भी अधूरे हैं?

    जवाब : एक अभिनेता के रूप में, लाखों सपने हैं जो अधूरे रह गए। इस विधा में पूर्णता हासिल करने का, इस विधा को इसके चरम तक जीने का। एक कलाकार के रूप में, अपनी सीमाओं को स्वीकार करने का और साथ ही हर चुनौती में बेहतर करने की कोशिश करते रहने का। एक संगीतकार के रूप में, अपने आप को शिक्षित करने और वाद्य यंत्रों को सीखने का, संगीत मेरे लिए उस ऊपर वाले से जुड़े रहने का जरिया है; सीखना किसी प्रकार के उपयोग के लिए नहीं बल्कि सिर्फ मेरे निजी और अंदर के जुनून के लिए। एक भारतीय के रूप में, मैंने हमेशा चाहा है कि भारत को विकसित राष्ट्र कहा जाए न कि विकासशील राष्ट्र, जैसा कि अक्सर भारत को पश्चिम में कहा जाता है। मेरा सपना है कि भारत पहला देश बने न कि तीसरा देश कहा जाए। 


  5. आपकी अगली फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ है, जिसमें आपके गेट-अप, डायलॉग और आपकी टोन के बारे में चर्चा हो रही है। इस तरह के मेकअप को पहनाना आपके लिए कितना आसान/ कठिन रहा और एक्शन सीन को कैसे शूट किया?

    जवाब : हां, ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान को बनाना, इसके कॉस्ट्यूम और शूटिंग के दौरान किए गए एक्ट्स काफी कठिन और थकावट भरा रहा, पर आसान तो कोई भी काम नहीं होता। हर रोज शूट के लिए तैयार होते वक्त कॉस्ट्यूम को पहनने में 3 से 4 घंटे का अच्छा-खासा वक्त लगता था और दिन के आखिरी में डेढ़ घंटा उसे उतारने के लिए। पर जब एक कमिटमेंट कर लिया जाता है तो उसके बाद मेकर्स के निर्देशों के अनुसार ही काम होता  है। मुझे उम्मीद है कि मै ऐसा कर पाया हूं।


  6. महिलाओं और बच्चों पर इन दिनों चर्चा हो रही है, इनपर आप क्या कहेंगे? वर्कप्लेस, खासतौर से एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में होने वाले सेक्सुअल हैरेसमेंट आज बड़ा मुद्दा है। आप वर्कप्लेस पर महिलाओं की सुरक्षा की समस्या को किस तरह देखते हैं?

    जवाब : किसी भी महिला को ऐसी घटनाओं का सब्जेक्ट नहीं बनना चाहिए। इस तरह की हरकत को बर्दाश्त नहीं करना चाहिए। खासतौर पर वर्कप्लेस पर। इस तरह की समस्याओं को तुरंत संज्ञान में लिया जाना चाहिए। सभ्यता, शिक्षा और सही आचरण, ये सब बेसिक शिक्षा के लेवर पर दिए जाने चाहिए। महिलाएं, बच्चे हमारे समाज में सबसे कमजोर हैं, उन्हें खास सुरक्षा दी जानी चाहिए। महिलाओं को सुरक्षित माहौल मिलना चाहिए क्योंकि वे इसकी हकदार हैं।


  7. आपको अपनी फिल्मों से कौन सबसे ज्यादा पसंद है?

    जवाब : सभी।


  8. अगर ‘दीवार’ फिल्म को फिर से बनाया जाता है, तो आप अपने और शशि कपूर के रोल के लिए किसे चुनेंगे?

    जवाब : आज फिल्म इंडस्ट्री में नई जनरेशन के कई कलाकार हैं, जो मेरे और शशिजी के निभाए गए रोल को रीमेक में निभाने में सक्षम हैं। हालांकि मुझे लगता है कि, सलीम-जावेद के स्क्रीनप्ले और राइटिंग को दोहराना मुश्किल होगा।


  9. आपके आखिरी विचार?

    जवाब : मैं अपना इंटरव्यू खत्म करता हूं।






Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *