Breaking News

जबरन छीनी जा रही हिंदुओं की संपत्तियां, सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला





इस्लामाबाद. पाकिस्तान में रह रहे हिंदुओं की संपत्ति को अवैध तरीके से कब्जा करने के मामले सामने आए हैं। इसको लेकर एक हिंदू महिला प्रोफेसर ने मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अपील की। प्रोफेसर ने कहा था कि इस समय देश में कानून की बुरी स्थिति है और हर जगह कुप्रबंधन फैला हुआ है। पाक के सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस साकिब निसार ने मामले को संज्ञान में लिया है।

  1. जस्टिस निसार न्यायिक सक्रियता के लिए जाने जाते हैं। मामले पर चीफ जस्टिस ने फेडरल और सिंध प्रांत के अफसरों को नोटिस जारी किया है। प्रोफेसर भगवान देवी रिटायर्ड हो चुकी हैं। उन्होंने संपत्ति पर कब्जा से संबंधित एक वीडियो शेयर किया था।

  2. चीफ जस्टिस निसार के कार्यालय के मुताबिक- मामले की सुनवाई 18 अक्टूबर को होगी। कोर्ट ने पाक के अटॉर्नी जनरल, सिंध के एडवोकेट जनरल, धार्मिक मामलों के सचिव, मानवाधिकार सचिव. सिंध के मुख्य सचिव समेत कई अफसरों को नोटिस दिया है।

  3. डॉन टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक- भगवान देवी ने कहा कि सिंध प्रांत के हिंदू देश की बिगड़ती कानून-व्यवस्था का सामना कर रहे हैं। पाक में हिंदुओं की स्थिति वैसी ही है जैसी अमेरिका में वहां के मूल निवासियों की है।

  4. भगवान देवी ने कहा- सिंध के कई हिस्सों खासकर लरकाना में भूमाफिया हिंदुओं को जबरन उनकी संपत्ति से बेदखल कर रहा है। लरकाना पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो का गृहनगर था।

  5. प्रोफेसर बताती हैं- लरकाना के कई हिंदू अपने संपत्ति बेच चुके हैं। वे पाकिस्तान छोड़कर जाने की तैयारी कर रहे हैं। कई हिंदू तो देश छोड़कर जा भी चुके हैं।

  6. हिंदुओं की संपत्ति कब्जाने को लेकर भगवान देवी और उनके पति डॉ. भगवान दास 15 दिन तक लरकाना प्रेस क्लब के सामने प्रदर्शन कर चुके हैं। वीडियो में उन्होंने पाक चीफ जस्टिस और दुनियाभर के लोगों से सिंध के हिंदुओं को बचाने की अपील की थी।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      पहले भी पाक के हिंदुओं पर अत्याचार के कई मामले सामने आ चुके हैं। (फाइल)


      भगवान देवी और उनके पति डॉ. भगवान दास 15 दिन तक लरकाना प्रेस क्लब के सामने प्रदर्शन कर चुके हैं। (फाइल)



      Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *